Live Jagat

Get latest Trending News In Hindi

या अल्लाह रहम – सऊदी अरब के रियाद शहर मैं आग सभी भाई दुआ करो

रियाज़ में नागरिक सुरक्षा के एक प्रवक्ता मुहम्मद अल-हमादी ने कहा, 14 अगस्त शुक्रवार को जनाद्रिया महल्ले में ख़ेमों की दुकानों और घरों में आ-ग लग गई आग से पूरे क्षेत्र में धुएं के घने बादल छा गए।

सऊदी समाचार एजेंसी एसपीए के अनुसार, रिपोर्ट मिलते ही नागरिक सुरक्षा दल घटनास्थल पर पहुंचे आग को फैलने से रोकने के लिए कार्रवाई की गई। आग से किसी की जा-न नहीं गई लेकिन तम्बू की दुकानों और घरों को न-ष्ट कर दिया।

सिविल डिफेंस टीमें अभी भी आग बुझाने की कोशिश जारी रखे हुए है अखबार 24 के अनुसार, आग लगने के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। एक जांच शुरू की गई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी होगी। दुकानों में आग पकड़ने के सामान मौजूद होने के कारण आग लगने की भी संभावना है।

दूसरी बड़ी खबर

सऊदी अरब के पर्यावरण और जल मंत्रालय ने सऊदी अरब में एक और 1000 नए बांध बनाने का इजहार किया है फ़िलहाल देश में 521 बांध हैं।

सऊदी अखबार अल-वतन के अनुसार, पर्यावरण मंत्रालय ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा है कि 2019 के दौरान सऊदी अरब में 11 नए बांधों का निर्माण किया गया था, जिसके बाद राज्य में बांधों की संख्या बढ़कर 521 हो गई है।

पर्यावरण, जल और कृषि मंत्रालय का कहना है कि 521 बांधों की मरम्मत और रखरखाव का काम एक नियमित प्रणाली के अनुसार किया जा रहा है – एक हजार और बांधों के निर्माण के लिए विवरण पर विचार चल रहा है।मंत्रालय ने रिपोर्ट में यह भी कहा कि मंत्रालय के तहत एक नया निकाय स्थापित किया गया है

जिसे बांधों की मरम्मत और रखरखाव का काम सौंपा गया है।मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा कि वर्षा जल को मापने के लिए 31 नए स्टेशन बनाए गए हैं। दैनिक वर्षा को निर्धारित करने के लिए दैनिक आधार पर समाचार पत्र भी जारी किए गए हैं,

जबकि जल-संबंधी जानकारी एकत्र करने के लिए हाइड्रोलॉजिकल नेटवर्क उपकरण का उपयोग किया गया है।स्काई न्यूज से बात करते हुए, सऊदी विद्वान खालिद बटरफ़ी ने कहा कि अधिक बांधों की योजना बनाई जा रही है क्योंकि वर्षा जल बर्बाद हो रहा है।

नए बांध से लगभग 8 बिलियन क्यूबिक मीटर पानी की आपूर्ति बारिश से की जा सकती है।खालिद बतरफी ने कहा कि नए बांधों के निर्माण से सऊदी अरब में भोजन का एक रणनीतिक स्रोत उपलब्ध होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *