Live Jagat

Get latest Trending News In Hindi

महज़ नौ साल का मासूम कटी गर्दन से टपकते खून को हाथ से रोके ज़िंदगी की चाहत में मौत से भागता घर तक आया !

उरई से एक खबर सामने आरही है। जहां महज नौ साल के बच्चे की गर्दन को उसके धड़ से अलग करना चाहा। लेकिन मासूम अजहर इतना हिम्मतवर निकला की कटी गर्दन ले कर वो भागते-भागते घर तक आया। पिता के सामने गिर पड़ा। गिरते ही बच्चे के मुँह से आखरी शब्द यही निकले “अब्बू मेरी जान बचा लो”, जिसे सुनते और अजहर की हालत को देखते ही घर भर में मानो कोहराम सा मच गया हो।

<

इस आनन-फानन में पिता मासूम को ले कर अस्पताल भागें। जहाँ डॉक्टर्स ने उसे मृत करार दिया। ये सुनते ही मानो परिजनों पर पहाड़ टूट पड़ा। कौन जानता था कि ये मासूम घर से दोस्तों के साथ खेलने निकलेगा और उसके साथ ये घटना हो जाएगी। मोहल्ले वालों को अजहर के मौत की खबर पर यकीन ही नहीं आरहा था।क्यूंकि उन्हें लगा की अजहर को कोई चोट लग गई होगी। लेकिन नौ साल के मासूम की इस दर्दनाक मौत को सुनते ही सबका कलेजा मुँह को आगया।

आपको बतातें चलें कि अजहर का बड़ा भाई अपराधी प्रवृत्ति का है। जबकि समीर का उसके क्षेत्र के जुआरियों व चोरी करने वालों से विवाद भी है। इसकी आशंका जतायी जा रही है कि रंजिश में किसी ने अजहर की हत्या को अंजाम दिया हो। वहीं पुलिस का कहना है कि यदि कोई बड़ा वारदात में शामिल होता तो नाले के पास ही अजहर का शव मिलता हो सकता है कि घटना में अजहर के किसी हम उम्र का ही हाथ हो जिस कारण वह नाले से घर तक भाग निकला ।

वहीं अपराधी ने जिस नाले के पास अजहर की गर्दन कटी थी। उस नाले से ले कर घर तक अजहर के खून की बुँदे गिरी हुई थी। जो उसकी बहादुरी को दर्शा रही है कि मासूम कटी गर्दन से टपकते खून को हाथ से रोके ज़िंदगी की चाहत में मौत से भागता घर तक आया लेकिन वो जी न सका। अजहर की मौत से उसकी माँ का बुरा हल था फिर भी एसपी को देख मां शबाना चीख पड़ी साहब किसी और के बेगुनाह बच्चे की जान जाए, इससे पहले कातिल को पकड़ लो साहब, मेरा लाल तो चला गया और किसी की गोद न उजड़ने देना साहब। एसपी ने शबाना को भरोसा दिलाया कि न सिर्फ जल्द ही हत्यारे को पकडे़ंगे बल्कि उसका केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलवाकर जल्द से जल्द उसे सजा भी दिलवाएंगे ।

 

 

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *