Live Jagat

Get latest Trending News In Hindi

एजेंटों की धोखाधड़ी से कुवैत में फंसा अमेठी का युवक, वीडियो जारी कर PM मोदी, CM योगी से लगाई गुहार

कमाने के लिए कुवैत (Kuwait) गए मोहम्मद अनीस ने वहां से एक वीडियो (Video) जारी कर बताया कि उसे ना तनख्वाह दी जा रही है और ना ही खाना. उसने प्रधानमंत्री, यूपी के मुख्यमंत्री और अमेठी की सांसद से मार्मिक अपील करते हुए गुहार लगाई कि उसे भारत (India) वापस बुला लिया जाए

कमाने की आस में खाड़ी देश के कुवैत (Kuwait) गए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमेठी के निवासी मोहम्मद अनीस यहां बुरी तरह फंस गया है. वो अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi), मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) और अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी (Smriti Irani) से भारत (India) वापस लाने की गुहार लगा रहा है. जानकारी के मुताबिक मोहम्मद अनीस की माली हालत ठीक नहीं थी. वो कमाने के लिए कुवैत गया था लेकिन यहां जाकर मुसीबतों में घिर गया है. उसने वहां से एक वीडियो जारी कर बताया कि उसे ना तनख्वाह दी जा रही है और ना ही खाना. कफील (काम देने वाली) उसे प्रताड़ित कर रही है. पीड़ित अनीस ने वीडियो में प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और अमेठी की सांसद से मार्मिक अपील करते हुए कहा है कि प्लीज मोदी जी, प्लीज योगी जी, प्लीज स्मृति जी हमारी मदद करिए.

अमेठी के फुसरतगंज थाना क्षेत्र के कस्बा के रहने वाले मोहम्मद अनीस ड्राइवर वीजा पर बीते 18 जनवरी को मुंबई से कुवैत पहुंचा था. मुंबई में उसे एजेंटों ने यह वीजा दिया था, कुवैत पहुंचने पर उससे घर की साफ-सफाई का काम लिया जाने लगा. आखिर छह महीने तक प्रताड़ना को बर्दाश्त करते हुए अब अनीस ने एक वीडियो जारी किया है. वीडियो में वो आपबीती बताते हुए कहा रहा है कि 18 जनवरी को कुवैत पहुंचा था. उसे एजेंटों ने फंसा दिया. सर, ना यहां मुझे खाना दिया जाता है, ना तनख्वाह दिया जाता है. मैं मर जाऊंगा. मुझे यहां पुलिसवाले इतना मारते हैं कि अब जीने की इच्छा खत्म हो गई है. लेकिन अभी मेरी पत्नी को एक लड़का हुआ है, मैंने अपने नवजात बेटे की शक्ल नहीं देखी है.

वीडियो बनाकर PM मोदी, CM योगी, स्मृति ईरानी से भारत वापस लाने की अपील

वीडियो में अनीस कहता दिख रहा है, मैं अपने देश भारत वापस आना चाहता हूं, मुझे अपना हिंदुस्तान बहुत प्यारा है. हमारे प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी गरीबों की बहुत मदद करते हैं, सांसद स्मृति ईरानी से अपील है कि मुझे यहां से निकाला जाए. मैने कंप्लेंट भी किया है लेकिन यहां मेरी सुनवाई नहीं हो रही. मेरी कफील बोलती है कि तुम फांसी लगाकर मर जाओ, तुम्हे मैं कचरे के डिब्बे में फिकवा दूंगी. लेकिन वापस इंडिया नहीं जाने दूंगी. इंडिया की सरकार मेरा कुछ नहीं कर पाएगी. प्लीज मोदी जी, प्लीज योगी जी, प्लीज स्मृति जी मेरी मदद की जाए. मेरे पिता से संपर्क किया जाए, मुझे लेकर वो बहुत परेशान हैं. हर जगह चक्कर लगा रहे हैं.

पीड़ित के पिता मोहम्मद अमीन ने बताया कि उनके बेटे की मुंबई से फ्लाइट थी, 18 जनवरी को ड्यूटी पर चढ़ा है, तभी से उसे प्रताड़ित किया जा रहा है. उससे चौबीसों घंटे काम लिया जा रहा है. तनख्वाह नहीं दी जा रही, एक-एक हफ्ते तक खाना नहीं दिया जाता. मेरा बेटा मौत के कगार पर है. वहीं अनीस की मां रो-रोकर सरकार से अपने बेटे को वापस लाने की गुहार लगा रही हैं. पीड़ित की पत्नी सफीना बानो बताती हैं कि उसकी चार साल की एक बेटी आरीफा है, और गोद में एक माह का बच्चा है. पति अनीस से रोज बात हो रही है. वो बस यही कहते हैं कि मुझे बुलवा लो वरना यह लोग मार डालेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *