Live Jagat

Get latest Trending News In Hindi

भारत में रहने का अधिकार सिर्फ उनको जो बोलेंगे “भारत माता की जय ” : केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान !

नागरिकता संशोधन कानून और NRC के खिलाफ पूरे देश में चल रहे हिंसक विरोध प्रदर्शन रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। वहीं इस विरोध प्रदर्शन की तपिश पर कई राजनीतिक दल अपनी राजनैतिक रोटियां भी सेंक रहे हैं।यहाँ आम जनता सड़कों पर प्रदर्शन कर रही है और विपक्ष अपनी दाल गलाने पर लगे है।

<

आपको बता दें कि सत्तारूढ़ मोदी और विपक्ष में आरोप प्रत्यारोप देखने को मिल रहा है। जहाँ धर्मेन्द्र प्रधान ने CAA और NRC का विरोध करने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। उन्होंने विरोधियों पर सख्त लहजे में पलटवार करते हुए कहा है कि कि क्या इस देश को हम धर्मशाला बनाएंगे? इस पलटवार के जरिए केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने भी आरोप प्रत्यारोप में अपना नाम दर्ज करा लिया है।

साथ ही बता दें कि धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि क्या भगत सिंह और नेता जी सुभाष चंद्र बोस का बलिदान बेकार जाएगा? क्या लोगों ने स्वतंत्रता के लिए इसलिए लड़ाई की ताकी आजादी के 70 साल बाद देश इस पर विचार करेगा कि नागरिकता गिनें या न गिनें? क्या इस देश को हम धर्मशाला बनाएंगे?

साथ ही केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कि क्या हम अपने देश को धर्मशाला बना दें जहाँ कोई भी बिना रोक टोक के घुस जाए। धर्मेंद्र प्रधान का कहना है कि भारत में सिर्फ वही लोग रहेंगे जो भारत माता की जय कहने के लिए तैयार हैं।

CAA और NRC के खिलाफ सड़क पर उतरे प्रदर्शनकारियों को और साथ ही विपक्ष के उन नेताओं को जो CAA और NRC के खिलाफ जनता को भटका रहें है उन पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शनिवार को निशाना साधते हुए उनसब विरोधकारियों से सवाल किया कि क्या वे देश को धर्मशाला बनाना चाहते हैं। उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के समारोह में कहा कि भगत सिंह और सुभाष चंद्र बोस जैसे लोगों ने देश की आजादी के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *