Live Jagat

Get latest Trending News In Hindi

सऊदी अरब में आज़ाद वीज़ा पर काम करने अब पैसे नहीं बचा पाएँगे . हुकूमत करेगी ज़ब्त

सऊदी अरब ने सउदी के नाम पर विदेशियों के व्यापार को छुपाने वालो के लिए एक नया कानून जारी किया है।नए कानून की धारा 10 स्पष्ट करती है कि अदालत से तिज़ारती दौलत छुपाने पर अंतिम फ़ैसला जारी करने के बाद गेर क़ानूनी तरीक़े से हासिल की हुई दौलत को जब्त कर लिया जाएगा।

सऊदी समाचार एजेंसी एसपीए के अनुसार, यदि कोई सऊदी नागरिक अपने नाम से किसी गेर मुल्की को व्यापार करा रहा है और उस कारोबार से सउदी या विदेशि को कमाई हो रही है।

यदि कानूनी उल्लंघनों के कारण गैर-लाभकारी लाभ को जब्त करने का कोई तरीका नहीं है, तो इस मामले को अदालत में ले जाया जाएगा।नया कानून कहता है कि अगर सरकारी अभियोजन पक्ष एहतियात के तौर पर 60 दिनों के लिए सरकार को वाणिज्यिक कवर के तहत धन सौंप सकता है।

वाणिज्य मंत्रालय लोक अभियोजन पक्ष से अनुरोध कर सकता है कि वह वाणिज्यिक यात्रा के संदिग्धों को अदालत में जाने से रोकें।सऊदी अरब में हज़ारों विदेशी सउदी के नाम पर देश भर में व्यापार कर रहे हैं।

व्यवसाय विदेशी व्यापार करने वाले सउदी को एक तय की हुई एक क़ीमत देते है जो उनके बीच तय होती है और गेर मुल्की हर साला उनको तीन हज़ार रियाल चार हज़ार रियाल सालाना देते है और साऊदी के नाम पर कारोबार करते है।

जैसे की अक्सर गेर मुल्की अपने कफ़ील के नाम पर कारोबारी करते है और कफ़ील को हर महीने या साल भर में कफ़ालत देते है या तो कफ़ील के नाम पर कारोबार करते है या फिर आज़ाद बाहर काम करते है लेकिन अब साऊदी हुकूमत इस चीज़ पर सख़्त हो गई है।

बदले में, सउदी उन्हें अपने नाम से व्यापार करने और कानूनी तफ़तीशों यानी सरकारी इदारो से बचाने की भी ज़िम्मेदारी लेते है और उनसे हर महीने या साल के तौर पर कफ़ालत लेते है।

विदेशियों को अपने नाम पर कारोबारी कराने पर साऊदी के लिए पांच साल की जेल और 5 मिलियन रियाल तक का जुर्माना और अदालत के आख़िरी फैसले के बाद नाजायज़ दौलत को जब्त करने की सजा सुनाई जाएगी।

जबकि सऊदी नागरिक को पांच साल के लिए ब्लैकलिस्ट किया जाएगा उन्हें इस अवधि(5साल ) के दौरान कोई भी व्यवसाय करने की अनुमति नहीं है, जबकि विदेशियों को मुस्ताकिल तौर पर (यानी हमेशा के लिए )ब्लैकलिस्ट करने का निर्देश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *