सऊदी सरकार फिलिस्तीनियों को समर्थन के नाम पर विश्वासघात कर रही है: ईरान

ईरान सबसे बड़े नेता, अली खमेनेई ने अन्य अरब देशों के बीच, “फिलिस्तीनी लोगों के साथ विश्वासघात” करने का आरोप सऊदी अरब और बहरीन पर लगाया है। ईरान ने कहा- “इस विश्वासघात ने अमेरिका के ‘सेंचुरी डील के लिए मार्ग प्रशस्त किया।”

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक,”कुछ मुस्लिम देशों जैसे बहरीन और सऊदी अरब के साथ विश्वासघात ने इस तरह की दुर्भावनापूर्ण योजना का मार्ग आसान कर दिया है।” उन्होंने कहा कि ये सौदा को एक देशद्रोही मामला से कम नहीं है।और सबसे गंभीर मामलों में से एक जिसे इस्लामी दुनिया का सामना कर रहा है।

उन्होंने कहा कि “यह सम्मेलन अमेरिका से जुड़ा हुआ है, लेकिन बहरीन के शासक अपनी कमजोरी, अक्षमता, गलतफहमी और इस्लाम विरोधी दृष्टिकोण के कारण इसकी मेजबानी ही नहीं बल्कि इसे आयोजित भी कर रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि, बहरीन और सऊदी अरब के शासकों को उस गड़बड़ के बारे में पता होना चाहिए जो उन्होंने खुद को इसमें शामिल किया था, “खमेनेई ने कहा, बहरीन पर आर्थिक सम्मेलन के मेजबान के रूप में ह’मला किया।

उन्होंने जोर देकर कहा कि “डील ऑफ द सेंचुरी” अरब देशों और फिलिस्तीनी गुटों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए, जो कि अमेरिकी शांति योजना को नकार चुके हैं, इसके लिए धन्यवाद व्यक्त करते हुए कोई भी सार्थक परिणाम नहीं होगा। उन्होंने “फिलिस्तीन में सूदखोर दुश्मन की आप’राधिक उपस्थिति के खिलाफ इस्लामी देशों की एकता” की आवश्यकता पर भी ध्यान दिलाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here