पीएम मोदी की एक तस्वीर आज पुरे सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में पीएम मोदी ने 1. 6 लाख का चश्मा पहन रखा था। जिसके लिए लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। साथ ही विपक्ष ने भी पीएम मोदी पर हमला बोल दिया। लोगों ने पीएम मोदी को ब्रांडेड फ़कीर नाम दिया। साथ ही #brandedfakeer आज ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है। दशक के अंतिम सूर्य ग्रहण को देखने के बाद मोदी पर खूब कटाक्ष किए जा रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, नरेन्द्र मोदी जिस चश्मे को पहनकर सूर्य ग्रहण को देख रहे हैं उसकी कीमत करीब 1.6 लाख रुपए है। एक व्यक्ति ने ट्‍वीट करते हुए लिखा कि नरेन्द्र मोदी और फकीरी का रिश्ता ठीक वैसा ही है जैसा अंबानी और गरीबी का। एक अन्य ने लिखा कि कौनसा फकीर 1.6 लाख का चश्मा पहनता है। एक अन्य ने लिखा कि मैं इस बात से सहमत हूं कि मोदी बचपन में गरीब थे। वे लंबे समय तक विधायक, मुख्‍यमंत्री रहे हैं और अब प्रधानमंत्री हैं। वे पिछले 20 सालों से बेरोजगार नहीं हैं तो फिर गरीब कैसे हुए?

कृष्ण कुमार दास ने लिखा कि मुझे लगता है कि आप सभी को प्रधानमंत्री के वेतन के बारे में पता है। मैं सोचता हूं कि वे इतना महंगा चश्मा खरीद सकते हैं। वे हमारे देश के प्रधानमंत्री हैं। एक अन्य ने लिखा कि किसी को अच्छे दिन का इंतजार है। एक अन्य ट्‍विटर हैंडल से कटाक्ष किया गया कि मोदी जी ने यह चश्मा 99 रुपए में पालिका बाजार से खरीदा है। एक अन्य व्यक्ति ने अल्पेश ठाकोर की एक पुरानी खबर को ट्‍वीट किया जिसमें अल्पेश ठाकोर कह रहे हैं कि मोदीजी को गुजराती खाना पसंद नहीं हैं, वे ताइवानी मशरूम खाते हैं, जिसके एक टुकड़े की कीमत 80 हजार रुपए है। वे हर रोज यह मशरूम खाते हैं।

मोदी समर्थक भी सोशल मीडिया की इस जंग में पीछे नहीं रहे। उन्होंने मोदी का सूर्यग्रहण देखते हुए फोटो के साथ पंडित नेहरू का एक फोटो ट्‍वीट किया जिसमें वे लेडी माउंटवेटन का सिगरेट जला रहे हैं। मोदी के इस तस्वीर पर पक्ष और विपक्ष के बीच जंग छिड़ गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here