कोरोना वायरस के सामने दुनिया की महाशक्ति अमेरिका घुटने टेकते नजर आ रहा है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के तमाम दावों के बाद भी अमेरिका में मरने वालों की संख्‍या कम होने का नहीं ले रही है। विश्व में कोरोना वायरस से संक्रमित सबसे ज्यादा लोग फिलहाल अमेरिका में हैं और शनिवार को इस विषाणु से मरने वालों की संख्या रेकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गई।

जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के ट्रैकर ने ये आंकड़े सामने रखे हैं। देश में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 बीमारी के कारण 450 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। वैश्विक महामारी फैलने के बाद से यहां अब तक 2,010 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। यह मामले मात्र तीन दिन में बढ़कर दोगुने हो गए हैं। मृतकों में एक नवजात भी शामिल है।

इलिनोइस राज्य के अधिकारियों ने बताया कि वैश्विक महामारी के कारण एक साल से भी कम उम्र के बच्चे की कोविड-19 से मौत का यह दुर्लभ मामला है। आंकड़ों के मुताबिक इटली में हुई 10,023 मौतें, स्पेन में 5,812, चीन के 3,299 और फ्रांस के 2,317 की तुलना में यह कुछ कम है। लेकिन गुरुवार के बाद से संक्रमण के मामलों के लिहाज से अमेरिका सबसे ऊपर है।

शनिवार को जॉन्स हॉपकिन्स ने अमेरिका में 1,21,000 मामले दर्ज किए। इसमें महज एक दिन में सामने आए 21,309 मामले भी शामिल हैं जो अपने आप में एक रेकॉर्ड है। अमेरिका में इस प्रकोप से सर्वाधिक प्रभावित न्यूयॉर्क है जहां 50,000 से ज्यादा मामले या देश में संक्रमण के तकरीबन आधे मामले हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को कहा कि वह पूरे राज्य में आवाजाही प्रतिबंधित करने के बारे में विचार कर रहे हैं। हालांकि देर रात उन्होंने अपना विचार बदल लिया और कहा कि लॉकडाउन की जरूरत नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here